THE CURRENT SCENARIO

add

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

शनिवार, 23 मई 2020

TCS

फरियादियों की फरियाद नही सुनती कुड़वार पुलिस-पूछती है जनता कब जागेगे जिम्मेदार।

अपराधियो को सहारा और फरियादियो को फटकार ऐ कब तक चलता रहेगा जनाब।
उदय प्रताप सिंह

भूपेंद्र सिंह✍️
 सुलतानपुर,23 May 2020
जनपद के कुड़वार थाना इलाके में शुुक्रवार बैनामे के जमीन पर घर बना रहे किसान को पुलिस की मिली भगत से स्थानीय दबंगों ने बिना कारण आकर रोकने लगे जब किसान ने विरोध किया तो मनबढ़ दबंगो ने किसान को लाठी डंडो से पिटाई कर दी। मजबूर हताश निराश उदास  पीड़ित किसान जब अपनी फरियाद लेकर स्थानीय थाने पहुँचा तो थानेदार ने हड़काते हुए भगा दिया ।
www.thecurrentscenario.com
किसान न्याय की गुहार लगाते हुए गिडगिड़ाता रहा लेकिन थानेदार साहब ने फरियादी की एक नही सुनी। यह तो कुछ नही है थाना कुड़वार के थानेदार साहब हमेशा अपनी कारगुजारियों के चलते सुर्खियों में रहते है । चाहे वो गैंगेस्टर अपराधियो के साथ मिठाई खाने को लेकर हो या फिर कोरोना योद्धा के साथ हाथापाई करने वालो के खिलाफ कार्यवाही को लेकर हो । साहब तो साहब है इनके आगे उच्चाधिकारीयो की भी नही चलती है । जिम्मेदारों से पूछती है जनता फरियादियो को कैसे मिलेगा न्याय ?
घटना क्रम-1  जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को कुडवार थाना इलाके के रामपुर की घटना है जहाँ पर राम रतन मौर्य पुत्र सालिक राम मौर्य निवासी दादूपुर थाना धम्मौर के निवासी है राम रतन मौर्य लगभग 10 साल पहले कुड़वार क्षेत्र रामपुर में 34 विस्वा जमीन बैनामा लिया था । जिसपर वह शुक्रवार को मकान का निर्माण करा रहे थे नींव खोदते देख गाँव के कुछ सरहंग और दबंग लोग पहुँच कर काम रोकने लगे जब उसने कारण पूछा तो उसको उन्होंने पीटना शुरू कर दिया और कहे कि घर तभी बना सकते हो जब एक लाख रुपये दोगे नही तो नही बनाने देंगे पीडित किसान का आरोप है कि  लेखपाल और पुलिस की मिली भगत से दबंग अनावश्यक मारपीट कर परेशान कर रहे है ।जब किसान फरियाद लेकर थाने पहुँचा तो थानेदार ने बिना फरियाद सुने ही थाने से भगा दिया । आखिर का सबसे कमजोर किसान ही है ? कैसे मकान बनेगा ? लगता है झोपड़ी में ही रहना पड़ेगा ?
घटना क्रम -2  इससे पहले थाना कुड़वार इलाके के कुड़वार कस्बे की पिडिता आशाबहु  है  इसी कस्बे में14 अप्रैल को साजरे आलम के घर डिलेवरी की केस को लेकर  सीएचसी गयी हुई थी आशा बहु को दवा की आवश्यकता पड़ी । तो सजरे आलम के साथ बाजार में स्थिति  मुन्ना मेडिकल स्टोर कुड़वार देर रात्रि पहुची,तो मेडिकल स्टोर पर मौजूद कुछ अराजक तत्व ने आभद्रता करने लगे पिडिता के विरोध करने पर अराजक तत्वों ने मारपीट पर उतारू हो गये,लोगो के बीच बचाव से मामला शान्त हुआ, जिसकी शिकायत पीडिता आशाबहु ने 14 अप्रैल को स्थानीय थाने पर गयी तो थाना प्रभारी ने आस्वासन देकर वापस भेज दिया । दो सप्ताह बीतने के बाद जब कोई कार्यवाही नही हुई। पीडिता का आरोप है कि 24 अप्रैल थाने गयी थी लेकिन थानाध्यक्ष ने डॉट कर भगा दिया था ।
घटना क्रम -3 इससे पहले समरसता का सन्देश देते हुुुए दबंग थाानेदार थाना क्षेत्र में बदमाशों के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाय उनके साथ मिठाई खाने और चाय पीते अख़्सर साहब देखे जाते है कुर्शी सम्भालते ही साहब एक गैंगेस्टर के मुजरिम के साथ होली मनाते देखे गए  किसी ने हिम्मत करके फोटो खींच शोसल मीडिया पर जब वायरल किया तो साहब रंग लगे होने के कारण पहचान नही सके कह कर मामले से कन्नी काट लिए ।