THE CURRENT SCENARIO

add

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

गुरुवार, 21 मई 2020

TCS

आईएएस औऱ आईपीएस, पति-पत्नि दो माह से नहीं मिले बच्चों से

रहीम शेरानी
20 May 2020 धार
धार जिले के कलेक्टर श्रीकांत बनोट एवं उनकी पत्नी श्रीमती कृष्ण वेणी देसावतु देवास जिले की पुलिस अधीक्षक के पद पर कार्यरत हैं। दोनों ही कोरोना के कहर से लोगों को बचाने की लिए अपनी जान जोखिम में डालकर दिन-रात की ड्यूटी कर रहे हैं। यहां तक कि इस दौरान वह पिछले दो महीनों से अपने घर तक नहीं गए हैं। ड्यूटी से थोड़ा समय निकालकर अपने बच्चों से मिलने घर पहुंचे थे। खिड़की की दूसरी ओर खड़े उनके दोनों बच्चे खड़े हुए थे। औऱ वह खिड़की के बाहर से दूर बैठकर मॉस्क लगाकर दूर से ही बच्चों से बात कर रहे हैं और उन्होंने बच्चों को प्यार से हाथ भी नहीं लगाया। जब भी घर जाते हैं बच्चों से ऐसे ही मिलते हैं।

पति-पत्नी दोनों निभा रहे हैं कोरोना वॉरियर्स की भूमिका
बता दें कि श्रीकांत बनोट की पत्नी कृष्णावेणी देसावतु देवास जिले की एसपी हैं। वह भी अक्सर घर से बाहर ही रहती हैं। जब घर आती हैं तो इसी तरह दूर से ही बच्चों से मिलती हैं। ऐसे में दोनों बच्चों को कोरोना वायरस ने केवल पिता ही नहीं, मां के प्यार से भी दूर कर दिया है।

दूर से ही अपने बच्चों से करते हैं मुलाकात
श्री बनोट का कहना है कि उनका अधिकतर समय घर के बाहर गुजरता है। कई जगहों पर जाते हैं, कई तरह के लोगों से मिलते हैं, ऐसे में कोरोना के संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है। इससे कहीं बच्चे प्रभावित न हों, इसलिए श्रीकांत दूर से ही उनसे मिलकर लौट आते हैं। इस छोटी मुलाकात के दौरान उनके चेहरे पर मास्क होता है और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन भी करते हैं।