THE CURRENT SCENARIO

add

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

रविवार, 12 अप्रैल 2020

World

सऊदी अरब में कैंसल हो सकती है तरावीह की नमाज़, तुर्की में कर्फ़्यू से अफ़रा तफ़री, फ़्रांस में मरने वालों की संख्या 13 हज़ार के पार, इटली में बहाल होने लगी ज़िंदगी!

Sajjad Ali Nayane
12 April 2020
कोरोना वायरस की महामारी का दंश जारी है, अमरीका और ब्रिटेन के साथ ही फ्रांस में भी तेज़ी से मौतें हो रही हैं। फ़्रांस में कोरोना से मरने वालों की संख्या 13197 हो गई है जबकि संक्रमितों की संख्या 1 लाख 24 हज़ार 869 हो गई है।
फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी जेरोम सोलोमन ने कहा कि संख्या और भी बढ़ेगी क्योंकि दो हज़ार से अधिक ओल्ड एज होम से हमें अब तक रिपोर्ट नहीं मिल सकी है।
ब्रिटेन में स्वास्थ्य मंत्री मैट हैंकोक ने कहा कि शुक्रवार को 980 लोग कोरोना की भेंट चढ़ गए जो ब्रिटेन में एक दिन में इस महामारी में मरने वालों की सबसे अधिक संख्या है।

इस बीच इटली से ख़बर मिल रही है कि वहां हालात में सुधार हो रहा है। शुक्रवार को इटली में 570 मौतें हुईं जबकि 3951 नए केस सामने आए। इससे पहले नए संक्रमण और हताहतों की संख्या ज़्यादा थी जिसमें धीरे धीरे कमी आ रही है।
इटली के प्रधानमंत्री ने कहा कि लाक डाउन को वह 3 मई तक बढ़ा रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि एक महीने के लाक डाउन के बाद अब कुछ ज़रूरी कामों को शुरू करने की अनुमति दी जा रही है। इतालवी प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ आफ़िस, बच्चों के दूध की दुकानें और कृषि का सामान बेचने वाले केन्द्रों को खोला जा रहा है। स्पेन में शुक्रवार को
650 मौतें रिकार्ड की गईं जिससे मरने वालों की कुल संख्या 15 हज़ार से अधिक हो गई है। स्पेन में भी कोरोना महामारी की रफ़तार कुछ धीमी पड़ी है। तुर्की की सरकार ने राजधानी अंकारा और इस्तांबूल सहित 31 शहरों में देशवासियों को आदेश दिया है कि घर से बाहर न निकलें। यह आदेश आते ही तुर्की में दुकानों पर भीड़ लग गई और लोग ज़रूरत का सामान जमा करने की फ़िक्र में लग गए। लोगों को यह आशंका है कि कर्फ्यू लंबे समय तक जारी रह सकता है।
सऊदी अरब में धार्मिक मामलों के एक अधिकारी ने कहा कि रमज़ान के महीने में अगर कोरोना महामारी की वर्तमान स्थिति जारी रहती है तो तरावीह की नमाज़ नहीं होगी। मुहम्मद अलअक़ील ने सरकारी टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए एक साथ जमा होने से रोकना ज़रूरी है।