THE CURRENT SCENARIO

add

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

सोमवार, 27 अप्रैल 2020

World Scenario

कोरोना के साथ ही ट्रम्प से भी अमरीकियों को बचाना है, बदक़िस्मती यह है कि अमरीका के इतिहास की सबसे भयानक महामारी ट्रम्प के कार्यकाल में आई है

Sajjad Ali Nayane
27 April 2020
अमरीका के मशहूर राजनैतिक टीकाकार थामस फ़्रेडमैन का कहना है कि ट्रम्प प्रशासन ने कोरोना महामारी को बहुत घटिया तरीक़े से डील किया है।
ट्रम्प रोज़ाना जो प्रेस वार्ता कर रहे हैं वह अमरीका की आम जनता के स्वास्थ्य के लिए बेहद ख़तरनाक है।
न्यूयार्क टाइम्ज़ में प्रकाशित होने वाले अपने लेख में फ़्रेडमैन ने लिखा कि हमें कोरोना वायरस के साथ ही ट्रम्प से भी जनता को बचाने के लिए हर्ड इम्युनिटी की ज़रूरत है। अमरीका को कम जानी नुक़सान और सीमित आर्थिक हानि के साथ वर्तमान संकट से निकालने के लिए ऐसे राष्ट्रपति की ज़रूरत है जो दलगत लड़ाइयों से दूर रहते हुए वैज्ञानिक आधारों पर सार्थक बहस पेश करने की क्षमता रखता हो। इस समय नैतिक, आर्थिक और पर्यावरण का संकट है जिससे देश को बाहर निकालना है।
www.thecurrentscenario.com
अमरीकी समाज को टुकड़ों में बांटने वाली अपनी नीतियों और कोरोना वायरस से निपटने के लिए एंटी सेप्टिक दवाएं पीने जैसे सुझावों के ज़रिए ट्रम्प कोरोना वायरस से लड़ने की सार्वजनिक इम्युनिटी को ही कमज़ोर नहीं कर रहे हैं बल्कि जनता की सूझबूझ को भी नुक़सान पहुंचा रहे है जिसका नतीजा यह होगा कि आम लोग विज्ञान और अंधविश्वास में कोई अंतर नहीं कर पाएंगे।
अमरीकियों की सबसे बड़ी बदक़िस्मती यह है कि अमरीका के इतिहास की सबसे भयानक महामारी ट्रम्प के कार्यकाल में आई है।
अमरीका को उस समय तक लगातार नाकामी का मुंह देखना पड़ेगा जब तक ऐसा लीडर नहीं मिल जाता जो जनता की रक्षा और कामकाज की बहाली इसी तरह जलवायु की रक्षा और आर्थिक विकास में तालमेल बिठा सके।
पहले से ही इशारे मिलने लगे थे कि त्रासदी क़रीब आ रही है लेकिन कोई उसके बारे में बात ही करने पर तैयार नहीं था। कोरोना की महामारी प्रकृति के ख़िलाफ़ लगातार बढ़ती इंसान की विध्वंसकारी लड़ाई का नतीजा है।
ट्रम्प को तो बस आर्थिक लाभ और विकास ही दिखाई देता है और उसी बारे में सोचना और बात करना उन्हें पसंद है। जब ट्रम्प यह समझाने की कोशिश कर रहे थे कि अमरीका आदर्श आर्थिक स्थिति में पहुंच चुका है तभी कोरोना की महामारी देश पर टूट पड़ी और उसने सब कुछ तबाह करके रख दिया।
स्रोतः न्यूयार्क टाइम्ज़