World News

अर्दोग़ानः क़तर में तुर्क सैनिकों की उपस्थिति पूरे फ़ार्स खाड़ी इलाक़े की स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण, सऊदी अरब से हमारी ख़ास दोस्ती, इमारात की गतिविधियां बेहद नकारात्मक

Sajjad Ali Nayane
09 Oct 2020

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने कहा कि क़तर में तुर्की की सैनिक उपस्थिति पूरे फ़ार्स खाड़ी के इलाक़े की शांति व स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है।

www.thecurrentscenario.com

क़तर की यात्रा पर दोहा पहुंचे अर्दोग़ान ने क़तर के अंग्रेज़ी भाषा के अख़बार पेनिन्सोला को साक्षात्कार देते हुए कहा कि क़तर में तुर्की की सैनिक उपस्थिति के ख़िलाफ़ जो लोग नकारात्मक प्रोपैगंडा करते हैं उनकी नीयत ठीक नहीं है। तुर्की की सैनिक उपस्थिति केवल क़तर नहीं बल्कि पूरे फ़ार्स खाड़ी इलाक़े की शांति व सुरक्षा की मदद कर रही है।

अर्दोग़ान ने कहा कि तुर्की और उसकी सैनिक उपस्थिति से उन्हीं को तकलीफ़ हो सकती है जो विद्रोह और विवाद भड़काना चाहते हैं।

सऊदी अरब और इमारात से अपने देश के संबंधों के बारे में तुर्क राष्ट्रपति का कहना था कि सऊदी अरब से हमारी ख़ास दोस्ती है विशेष रूप से सऊदी नरेश सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ का हम सम्मान करते हैं। अर्दोग़ान ने कहा कि अब तक हमने इस दोस्ती और भाईचारे के उसूलों का पालन किया है।

अर्दोग़ान ने कहा कि अरब इमारात फ़ार्स खाड़ी के इलाक़े इसी तरह इस्लामी जगत के विभिन्न देशों लीबिया, सीरिया, फ़िलिस्तीन तथ्या अन्य जगहों पर जो कुछ कर रहा है वह हद से ज़्यादा नकारात्मक है।

अर्दोग़ान ने सीरिया में तुर्क सैनिकों की उपस्थिति के बारे में कहा कि सीरिया के साथ हमारी 911 किलोमीटर लंबी संयुक्त सीमा है और 2011 में सीरिया में शुरू होने वाली झड़पों का सबसे ज़्यादा नुक़सान हमें उठाना पड़ा इसलिए हम इस स्थिति की उपेक्षा नहीं कर सकते थे।

अर्दोग़ान ने दावा किया कि दूसरे देशों की ज़मीन की हमें लालच नहीं है जब सीरिया में संकट का स्थायी समाधान निकल आएगा तो वहां हमारी सैनिक उपस्थिति भी समाप्त हो जाएगी लेकिन वह समय आने तक हम आतंकवाद से लड़ते रहेंगे और आत्म रक्षा तथा अदना समझौते के आधार पर अपने देश पर होने वाले हमलों का जवाब देते रहेंगे। अर्दोग़ान ने कहा कि हम सीरिया के इदलिब या दूसरे किसी भी इलाक़े को अपने देश के लिए ख़तरों का स्रोत नहीं बनने देंगे।

TCS

Related Articles

Back to top button
Close