THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Tuesday, June 23, 2020

TCS

सुल्तानपुर जिले की बैंक आफ बड़ौदा शाखा सिसौडा(सेमरी) में मूल बहुत सुबिधाओं का अभाव ग्राहकों को उठानी पड़ रही भारी परेशानी

बैंक का पासबुक पीरिन्टर पिछले 6माह से खराब

बैंक  पासबुक छपवाने के लिए उपभोक्ताओं को जाना पड़ता है सुल्तानपुर व अम्बेडकरनगर

तेज धूप हो या बरसात बाहर खड़े होकर घण्टों करना पड़ता है इंतजार

बैंक के अंदर बैंक कैशियर की चलती है मनमानी करता है उपभोक्ताओं से अभद्र व्यवहार

संजय सिंह
सेमरी(सुल्तानपुर) 23 June 2020
मालूम हो कि सुल्तानपुर जिले की प्रमुख बाजार सेमरी जो कि सुल्तानपुर व अम्बेडकरनगर के मध्य रायबरेली टाण्डा हाइवेपर पर बसी है बाजार से सटे कस्वे सिसौडा में बैंक आफ बड़ौदा है इस बैंक से इस समय प्रतिदिन सैकड़ों उपभोक्ताओं द्वारा लेन देन किया जाता है
लेकिन बैंक में उपभोक्ताओं को खुली तेज धूप ,बरसात में बैंक के बाहर लाइन लगनी पड़ती है घण्टों मसकक्त के बाद जब उपभोक्ता बैंक के अंदर पहुँचता है तो बैंक का कैशियर अरुण कुमार उपभोक्ताओं के साथ बत्तमीजी से बात करने के अलावा उनके विड्रॉल को कभी रिजेक्ट कर देता है तो कभी उन्हें दूसरा विड्रॉल भरने के लिए बैंक के बाहर भेज देता है जिससे उपभोक्ताओं को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है ।।
दूसरी तरफ बैंक का प्रिंटर जो कि पासबुक छापता वह करीब 6 माह से खराब पड़ा है बैंक उपभोक्ता जब नम्बर लगाकर बैंक  के अंदर किसी तरह पहुँचता है तो  उसे बताया जाता है अगर पासबुक छपवानी है
तो सुल्तानपुर जाओ या अम्बेडकरनगर जिससे उसे मायूस होकर उपभोक्ताओं को वापस लौटना पड़ता है मालूम हो कि सेमरी से 30 किलोमीटर दूर सुल्तानपुर है व अम्बेडकरनगर की भी दूरी भी उतनी ही है आम उपभोक्ता तो उतनी दूर जाने से रहा पिरिन्टिंग मशीन  खराब होने से आम जनता यह नही जान पाती की मेरा कितना रुपया कहा से आया है कितना निकला व कितना मेरे में बैलेंस बचा ।।
उससे से बड़ी मुसीबत यह कि बैंक के बाहर उपभोक्ताओं को धूप व बरसात से बचने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है उपभोक्ता तेज धूप हो या बरसात दोनोँ स्थित में बाहर बैंक के बाहर खडे होकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ता है।।
इस बावत बात करने पर बैंक के शाखा प्रबंधक नितेश कुमार सारा ठीकरा हेड आफिस पर फोड़ते हुए कहते है कि कई बार उपभोक्ताओं की परेशानी के बारे में हेड आफिस को लिखा गया लेकिन वहाँ से कोई जबाब नहीँ मिला ।।