THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Monday, June 8, 2020

TCS

दलालों से तंग अमेठी कलेक्ट्रेट में लगे दलालों से सावधान के पोस्टर

संजय सिंह/भूपेन्द्र सिंह
अमेठी,08 June 2020
जिले की कलेक्ट्रेट इस समय दलालों की कारगुजारियों से इतनी त्रस्त हो चुकी है कि कलेक्ट्रेट में चारों ओर जगह जगह पर दलालों से सावधान के पोस्टर लगाने पड़े। लॉक डाउन के दौरान लगाये गये इन पोस्टरों के माध्यम से अमेठी कलेक्ट्रेट में आने वाले हर आदमी को इनसे सावधान रहने की हिदायत दी जा रही है।
www.thecurrentscenario.com

वैसे ये पोस्टर इस समय इस बात को लेकर चर्चा में भी हैं कि जिस भवन में जिले के मुखिया जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी, उप जिलाधिकारी, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट, तहसीलदार जैसे जिले के जिम्मेदार अधिकारियों के कार्यालय व न्यायालय हैं और ये अधिकारीगण स्वयं जनसुनवाई से लेकर वहां की हर गतिविधियों पर निगाह रखते हों, ऐसे परिसर में लॉक डाउन के दौरान दलालों की बाढ़ कैसे आ गई और जनता को सावधान करने के लिए पोस्टर लगाने के लिए अनुमति देनी पड़ी।
www.thecurrentscenario.com
सवाल यह भी उठता है कि जब प्रशासन को यह पता चल चुका है कि कलेक्ट्रेट में दलाली हो रही है तो दलालों, संबंधित बाबुओं या अधिकारी को चिन्हित कर उन पर कार्यवाही करने के बजाय पोस्टर लगा कर जनता को सावधान रहने की हिदायत क्यों ? क्या जिला प्रशासन सतर्कता औऱ निगरानी इतनी कमजोर है कि जिले की कलेक्ट्रेट को दलालों से नहीं बचा सकती। ये दलाल कौन हैं, कहाँ से पैदा हो गए औऱ कलेक्ट्रेट के वे अधिकारी व बाबू कौन हैं जो इनके प्रश्रयदाता हैं ये तो जांच का विषय है लेकिन कलेक्ट्रेट में लगे दलालों से सावधान के पोस्टर जिले की प्रतिष्ठा व मर्यादा को तार तार कर रहे हैं।