THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Sunday, June 21, 2020

TCS

गरीबों के लिए वरदान है संबल योजना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 664 हितग्राहियों के खाते में 14.13 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

हितग्राहियों से वी.सी. के माध्यम से बातचीत की

रहीम शेरानी
भोपाल,21 June 2020
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल योजना) गरीबों के लिए वरदान है। प्रदेश में योजना में एक करोड़ 37 लाख असंगठित श्रमिक पंजीकृत हैं। योजना के अंतर्गत 1 मार्च से अभी तक कुल 24,507 हितग्राहियों को 137 करोड़ 41 लाख रूपए की सहायता प्रदान की गई है। आज 664 हितग्राहियों के परिजनों को 14 करोड़ 13 लाख रूपए की अनुग्रह सहायता राशि प्रदान की जा रही है।
www.thecurrentscenario.com
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज संबल योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को सिंगल क्लिक के माध्यम से राशि अंतरित की। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव श्री फैज अहमद किदवई उपस्थित थे।
www.thecurrentscenario.com
योजना में विभिन्न लाभ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वी.सी. के माध्यम से संबल योजना के हितग्राहियों से चर्चा के दौरान कहा कि संबल योजना के अंतर्गत अनुग्रह सहायता, अंत्येष्टि सहायता, प्रसूति सहायता, बिजली के बिलों में छूट, उच्च शिक्षा की फीस भरना, बेटियों का विवाह आदि सहायता गरीबों को प्रदान की जाती है।

मामा भरेगा उच्च शिक्षा की फीस

हितग्राहियों से चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बच्चे अच्छी से अच्छी उच्च शिक्षा प्राप्त करें। उनकी फीस उनका मामा शिवराज भरेगा। उज्जैन के दीपक मीना व दीपक विश्वकर्मा तथा इंदौर की सुश्री आयुषी ने मुख्यमंत्री को उनके कॉलेज की फीस भरने के लिए धन्यवाद दिया।

बेटी को कलेक्टर बनाऊंगी

मुख्यमंत्री से चर्चा के दौरान प्रसूति सहायता की हितग्राहियों ने बताया कि उन्हें 16-16 हजार रूपए की प्रसूति सहायता मिल गई है। इंदौर की पिंकी मनोहर ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे अपनी बेटी को कलेक्टर बनाएंगी। आयुषी मालवीय ने कहा कि वे पी.एस.सी परीक्षा देंगी। मुख्यमंत्री ने दोनों को शुभकामनाएँ दीं।

हितग्राहियों से संवाद

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज वीसी के माध्यम से संबल हितग्राहियों सागर की श्रीमती भारती, श्रीमती नेहा, जबलपुर के श्री अश्वनी नामदेव, श्री विकास चढार, उज्जैन के श्री दीपक मीणा, श्री दीपक श्रीवास्तव, विदिशा की श्रीमती शबाना बी, सतना की श्रीमती कल्पना केवट, श्रीमती खुशबू वर्मा, बैतूल की श्रीमती कविता धान्डरे, श्रीमती गीता चौधरी देवास की श्रीमती मुस्कान, श्रीमती सुशीला बाई और इंदौर की श्रीमती पिंकी और सुश्री आयुषी से चर्चा की।