THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Thursday, June 11, 2020

TCS


पान मसाला संबंधित दुकानों को खोलने के लिए व्यापारियों ने डिप्टी कमिश्नर राज्य कर के माध्यम से दिया माँग पत्र

जब पान मशाला की फ़ैक्टरियाँ चालू हैं तो पान मसाला की दुकानों को बंद करने का कोई औचित्य नहीं—रवींद्र


संजय सिंह
सुलतानपुर,11 June 2020 
*पान मसाला संबंधित दुकानों को खोलने के लिए व्यापारियों ने डिप्टी कमिश्नर राज्य कर के माध्यम से दिया माँग पत्र*
*जब पान मशाला की फ़ैक्टरियाँ चालू हैं तो पान मसाला की दुकानों को बंद करने का कोई औचित्य नहीं—रवींद्र*
ज्ञापन में व्यापारियों ने लिखा है कि
सेवा में ज़िलाधिकारी महोदया सुलतानपुर
द्वारा डिप्टी कमिश्नर राज्य कर सुलतानपुर
महोदया
जनपद सुलतानपुर के ज़र्दा व पान मसाला संबंधित दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान करने व किराना की दुकानों के साथ ही पान मसाला की दुकानों को रोस्टर में शामिल करने की कृपा की जाए महोदया पान मशाला पर केंद्र व राज्य सरकार द्वारा प्रति वंध हटा लिया गया है पान मशाला की सभी फ़ैक्टरियों को सरकारों ने चालू करवा दिया है जिले में विभिन्न व्यापारियों के पास विभिन्न ब्रांडों की एजेंसी है कंपनियों द्वारा माल वेचने के लिए व्यापारियों से कहा जा रहा है और जी यस टी पेड़ ई वे विल जारी करके माल आपूर्ति की जा रही है प्रदेश के अधिकांश जनपदों मे पान मशाला की दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है अपने जनपद में भी दुकाने अब खुलनी चाहिए । जनपद के अग़ल बग़ल के ज़िलों से सुलतानपुर मे पान मसाला की आपूर्ति हो रही है ऐसे मे जिले के थोक व्यापारियों का तो नुक़सान हो ही रहा है साथ मे जिले के राजस्व का भी भारी नुक़सान हो रहा है यह भी कहने में गुरेज़ नहीं है कि पान मसाला खाने वाले खा भी रहे हैं केवल नियम क़ानून का पालन करने वाले व्यापारियों का ही नुक़सान हो रहा है ऐसे मे जनपद में पान मशाला संबंधित थोक दुकानों को बंद कराये रहने का कोई औचित्य नहीं है
www.thecurrentscenario.com

इस संबंध मे आप को संबोधित माँग पत्र 28-5-2020को दिया गया था अपर ज़िलाधिकारी महोदय प्रशासन को दिया गया था व ४जून २०२० को दोबारा अपर ज़िलाधिकारी प्रशासन मॉग पत्र दिया गया था ।दिनांक ९ जून २०२० को भी आपको संबोधित माँग पत्र मुख्य राजस्व अधिकारी को दिया गया था अभी तक माँग पत्र पर कोई कार्रवाई न होने पर आज पुन: आपको माँग पत्र प्रेषित है।
अत: निवेदन है कि अपने जनपद में भी पान मसाला संबंधित व्यापारी भाइयों की रोजी रोटी चले और सरकार को टैक्स भी मिले को दृष्टिगत रखते हुए इस पर सहानुभूति पूर्वक विचार करते हु ए लाक डाउन के नियमों का पालन करने की शर्तों पर  जर्दा व पान मसाला संबंधित व्यापारियों को भी दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान करें।माँग पत्र देने वालों ज़िला प्रभारी अनूप श्रीवास्तव शकील,दानिश,दीपू कसौधन,हिमांशु मालवीय रहे।