THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Thursday, June 18, 2020

TCS

कलेक्टर श्रीमती सुरभि गुप्ता की अध्यक्षता में जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक आयोजित
बाल विवाह रोकने संबंधित व्यापक जन जागरण अभियान चलाए जाने के निर्देश


रहीम शेरानी
अलिराजपुर,19 June 2020
अलीराजपुर 18 जून 2020। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्रीमती सुरभि गुप्ता की अध्यक्षता में जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक आयोजित हुई। कलेक्टोरेट कार्यालय अलीराजपुर में आयोजित उक्त बैठक में किषोर न्याय अधिनियम 2015 समेकित बाल संरक्षण योजना, समेकित बाल संरक्षण योजना के तहत फॉस्टर केयर/स्पांसरषिप योजना की प्रगति पर चर्चा की गई। बैठक में लाडो अभियान, बाल विवाह पर चर्चा की गई।
www.thecurrentscenario.com
बैठक में किषोर न्याय बोर्ड में लंबित प्रकरणों की विधि मुक्त पर चर्चा। बैठक में चाईल्ड लाईन के द्वारा किये गये कार्य की समीक्षा की गई। बालिकाओं एवं किषोरियों पर होने वाले अपराधों की समीक्षा की गई। पलायन कर आये बच्चों एवं किषोर-किषोरीयों हेतु किये जाने वाले कार्य संबंधी योजना पर चर्चा की गई। बैठक में नषा मुक्ति, भिक्षावृत्ति एवं कौषल विकास पर चर्चा की गई। बैठक में बाल कल्याण समिति से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की गई। बैठक में खंड एवं ग्राम स्तरीय बाल संरक्षण समिति एवं शौर्या दल के कार्य पर चर्चा की गई। बैठक में उदिता एवं लालिमा योजना की प्रगति की समीक्षा हुई। किषोर एवं किषोरी सषक्तिकरण हेतु राज्य स्तरीय कार्ययोजना के अनुरूप जिला स्तरीय कार्ययोजना का परस्पर समन्वय से तैयार किये जाने को लेकर आवष्यक दिषा निर्देष दिए गए। बैठक में किषोर-किषोरी सषक्तिकरण की टास्क फोर्स पर चर्चा की गई।
बैठक में कलेक्टर श्री गुप्ता ने जिले में बाल विवाह रोकने एवं इस विषय पर व्यापक स्तर पर जनजागरूकता हेतु विषेष प्रयासों संबंधित निर्देष दिए। इन प्रयासों में सरपंच, पटेल, तडवी, चौकीदार, आंगनवाडी कार्यकर्ता, आषा कार्यकर्ता सहित अन्य मैदानी अमले को सक्रियता के साथ बाल विवाह रोकने के लिए सहभागिता संबंधित निर्देष दिए। कलेक्टर श्रीमती गुप्ता ने निर्देष दिए कि बाल विवाह रोकने और बाल विवाह के कारण होने वाले स्वास्थ्य संबंधित एवं अन्य समस्याओं के उत्पन्न होने वाले कारकों से आमजन को अवगत कराते हुए जन जागरूक किया जाए। उक्त कार्य को अभियान के रूप में लेते हुए वर्ष भर संचालित किये जाने के निर्देष दिए। इसके लिए ग्राम स्तर पर क्लस्टर बनाकर ग्रामीण जनप्रतिनिधिगण एवं स्टेक होल्डर्स को प्रेरिक करते हुए जन जागरूक करने के प्रयास किये जाए। बाल विवाह रोकने संबंधित विषय को जिले में अलग-अलग फोरम का उठाकर व्यापक स्तर पर जनजागरूकता के प्रयास किये जाए। साथ ही किषोर-किषोरी सषक्तिकरण, बाल हिंसा रोकने हेतु विषेष प्रयास किये जाए। बैठक में डीपीओ आईसीडीएस श्री रतनसिंह गुडिया, सीएमएचओ डॉ. प्रकाष ढोके, एसीईओ श्री केसी जैन, डीईओ श्री सीके शर्मा सहित जिला बाल संरक्षण समिति सदस्यगण, युनिसेफ कन्सल्टेन्ट श्री सौरभ पोरवाल सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित थे।