THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Thursday, May 7, 2020

World

यमन का हेल्थ सिस्टम जंग से ध्वस्त हो चुका है लेकिन ब्रिटेन अब भी यमन पर बमबारी में सऊदी अरब की मदद कर रहा है, यहां तक कि कोरोना महामारी के दौर में भी!

Sajjad Ali Nayane
08 May 2020,
पांच साल से अधिक समय से जारी जंग ने यमन को बेहद गंभीर मानवीय संकट में उलझा दिया है। इस देश का हेल्थ सिस्टम तबाह हो चुका है और बड़ी संख्या में लोग भुखमरी का शिकार हैं मगर सऊदी अरब के लिए ब्रिटेन के हथियारों की सप्लाई बंद नहीं हुई है।
www.thecurrentscenario.com
रशा टुडे की वेबसाइट पर डबलिन स्थित आइरिश लेखिका डैनिएले रयान का एक लेख छपा है जिसमें कहा गया है कि यमन में सऊदी अरब की बमबारी के मिशन को जारी रखने और मदद पहुंचाने में ब्रिटेन का रोल पहले भी रहा है लेकिन कोरोना महामारी के दौरान इस ग़ैर इंसानी मदद ने हालात की गंभीरता बढ़ा दी है।
यमन के लिए संयुक्त राष्ट्र की मानवीय मामलों की कोआर्डिनेटर लिज़ ग्रांडे ने चेतावनी दी है कि देश में 50 प्रतिशत से भी कम चिकित्सा केन्द्र काम कर रहे है हर तरफ़ अभाव ही अभाव नज़र आता है।
इस बीच ब्रिटेन की हथियार कंपनी बीएई सिस्टम्ज़ ने कोरोना महामारी के संकट को गोल्डन अवसर में बदलते हुए ब्रिटेन के लिए फ़ेस शील्ड और वेंटीलेटर बनाना शुरू कर दिया मगर इस कंपनी के जहाज़ हथियारों की खेप लेकर लगातार सऊदी अरब के ताएफ़ में किंग फ़हद एयरबेस पर उतर रहे हैं। यहां पर तैनात ब्रितानी टाइफ़ून यमन पर बमबारी में भी हिस्सा लेते हैं।