THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Wednesday, May 27, 2020

TCS

मंझले और लघु व्यापार पर ध्यान नहीं दिया तो व्यापारी आत्महत्या कर लेंगे

ताहिर कमाल सिद्दीकी
इंदौर,27 May 2020
युवा नेता और सर्वधर्म संघ के अध्यक्ष मंज़ूर बेग ने कलेक्टर,मंत्री,मुख्यमंत्री सभी से आग्रह है कि बड़े व्यापार के साथ मंझले और लघु व्यापार पर भी ध्यान दिया जाए, नहीं तो लघु (छोटे) व्यापारी आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।श्री मंज़ूर बेग ने कहा देश में जब से कोरोना संक्रमण के चलते लॉक डाउन हुआ है तब ही से इंदौर सहित समूचे मध्यप्रदेश में जनता और सभी प्रकार का कारोबार करने वाले व्यापारी बंधुओं ने अपना सहयोग देते हुए अपना व्यापार बंद रखा। आज  स्थिति यह हो गई है कि छोटे व्यापारी से लेकर मध्यम वर्ग के व्यापारी, जैसे छोटे दुकानदार, सड़क पर ठेला चलाकर कर व्यापार कर गुजर बसर करने वाले, ऑटो रिक्शा चालक, जूते पॉलिश करने वालो अन्य कई ऐसे छोटे तबके के व्यापारी जो रोज कमाते हैं
www.thecurrentscenario.com
और रोज घर - परिवार व छोटो बच्चो का पालन पोषण करते हैं बहुत परेशान है। वर्तमान मे उनकी स्थिति बद से बदतर हो चुकी है। ऐसे में आगे इसी तरह लगातार लॉक डाउन जारी रहा तो उन्हें दो वक्त की रोटी के साथ ही तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। इतना ही नहीं सड़क के सहारे जीवन की राह खोजने वाले आत्महत्या जैसे कदम उठाने पर मजबूर हो सकते है क्योंकि उनकी आर्थिक स्थिति कमजोर और दयनीय हो गई है।वहीं जिले के अधिकारियों द्वारा बड़े व्यापारियों के साथ उद्योग व फैक्ट्रियों के साथ ही बड़ी होटलों का कार्य शुरू करने की शुरुआत की जा चुकी है।उन्होंने कहा सरकार मज़बूत रणनीति बनाये। कोविड वायरस के नाम पर छोटे व्यापारियों को मरने पर मजबूर न किया जाये क्योंकि पहले ही मजदूर और उसका परिवार बड़ी मुश्किल से अपने परिवार का गुजारा कर पाता है और परेशानी उठा रहे दुखी मजदूर परिवारों के लिए सरकार और जिला प्रशासन यह कोशिश करें कि मध्यमवर्ग, कमजोर वर्ग और मजदूर वर्ग का पालन पोषण कैसे हो और छोटे  व्यापार, बड़े व्यापार से पहले चालू किया जाए ताकि जिंदगी की दौड़ में स्थिति अनूकूल हो। उन्होंने बताया कि कोविड संकट के दौरान मध्यमवर्ग की स्थिति काफी कमजोर हो चुकी है लेकिन जिला प्रशासन के अधिकारी, बड़े व्यापारियों को ही सहयोग कर रहे हैं वहीं छोटे व्यापारियों और सड़क से गुजारा करने वाले अति सूक्ष्म व्यापारियों के साथ छलावा किया जा रहा है। सरकार उच्च स्तर पर जांच कर छोटे व्यापारियों और सड़क पर काम करने वालो को जल्द से जल्द व्यापार शुरू करने की अनुमति कोविड नियमो के तहत प्रदान करें। ताकि मध्यम वर्ग और गरीबों परिवारों को राहत मिल सके नही तो उनका जीवन संकट में पड़ जायेगा।