THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Tuesday, May 12, 2020

TCS

नर्सिग दिवस पर विशेष:- 
सेवा, सहयोग एवं संघर्ष के गठजोड़ ने तपस्या को बनाया स्टाफ नर्स

अरविंद कुशवाह
बड़वानी,12 May 2020
कर्मयोगी को सेवा कार्य करते हुए केवल अपने ध्येय ध्यान देना चाहिए, एक - ना - एक दिन सेवा प्रदाता स्वयं ही आकलन कर पुरस्कृत करते हैं । बशर्ते सेवा प्रदाता संवेदनशील हो यह कहना है हाल ही में शासकीय स्टाफ नर्स के पद पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तलवाड़ा बुजुर्ग में नियुक्त सुश्री तपस्या धनगर का।
सुश्री धनगर बताती हैं कि वर्ष 2006 में ऐसे ही सेवा प्रदाता आशा ग्राम ट्रस्ट के संस्थापक ट्रस्टी स्वर्गीय हीरू भाई के रूप में मिले, जिन्होंने उन्हें ठीकरी ब्लॉक में तारा अक्षर साक्षरता परियोजना में सेवा कार्य से जोड़ा।  उनके कार्यों से प्रभावित होकर ट्रस्ट द्वारा संचालित आशा चिकित्सालय में 2008 में सहायक नर्स के रूप में उन्हें सेवा का अवसर प्रदान किया । जहां उन्होंने मरीजों के प्रति सेवा एवं कार्य निष्ठा से न्यासी गणों को संतुष्ट किया, जिसके प्रतिफल स्वरूप  आशा नर्सिंग इंस्टिट्यूट में स्वर्गीय हीरूभाई ने नर्सिंग कॉलेज के निदेशक डॉक्टर जगदीश यादव के मार्गदर्शन में निशुल्क नर्सिंग कोर्स जीएनएम में दाखिल करवा दिया ।
फिर भी  अपनी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण तथा दो भाइयों एवं मां की जिम्मेदारी उन  पर होने के कारण शिक्षा के साथ-साथ चिकित्सालय में कार्य करना जारी रखा।
वह बताती हैं कि ईश्वर ने मेरी सेवा का प्रतिफ्ल दिया और वर्ष 2020 में मेरा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत स्टाफ नर्स के पद पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तलवाड़ा बुजुर्ग में चयन हो गया तथा आज में प्रतिदिन चिकित्सालय में आने वाले लोगों का कोरोना वायरस के लक्षणों को परखने के लिए परीक्षण कर अपना दायित्व निभा रही हूं । तथा कोरोना योद्धा टीम के साथ, हर वक्त मरीजों के सेवाओं के लिए तत्पर हूं।