THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Thursday, May 14, 2020

TCS

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की मानवीय पहल
मध्य प्रदेश ही नहीं बिहार और उत्तर प्रदेश के मजदूरों के लिए भी लगाए गए वाहन

रहीम शेरानी
अलीराजपुर,14 May 2020
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर इंदौर संभाग में मजदूरों के उनके घरों तक पहुँचने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए जा रहे हैं इंदौर संभाग के प्रभारी मंत्री श्री तुलसी सिलावट द्वारा इस संबंध में दिए गए निर्देशों के पालन के क्रम में बड़वानी, आलीराजपुर, झाबुआ और बुरहानपुर की सीमा में अन्य राज्यों से आ रहे मजदूरों के लिए भोजन, पानी, चिकित्सा और बसों की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है। संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने बताया है कि इंदौर संभाग के किसी भी जिले से मजदूरों को पैदल नहीं जाना पड़ा पड़े इसके लिए सभी संभव इंतजाम किए जा रहे हैं।
www.thecurrentscenario.com
आज से बड़वानी जिले के बिजासन और बुरहानपुर जिले की सीमा में आ रहे बिहार और उत्तर प्रदेश मूल के मजदूरों के लिए बसों की व्यवस्था सुनिश्चित कर दी गई है।
इन दोनों जिलों की सीमा पर बड़ी संख्या में आ रहे बिहार और उत्तर प्रदेश के मजदूरों के लिए भी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने उसी प्रकार चिंता जतायी है जैसे कि मध्य प्रदेश के मजदूरों के लिए की जा रही थी। मुख्यमंत्री श्री चौहान के निर्देश पर इंदौर संभाग के प्रभारी जल संसाधन मंत्री श्री तुलसी सिलावट ने इंदौर संभाग में मजदूरों के उनके घर तक पहुँचने के लिए बेहतर कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए थे। इसी तारतम्य में आज से बड़वानी जिले में 120 और बुरहानपुर में 25 बसों की व्यवस्था की गई है। इन बसों में बिहार और उत्तर प्रदेश के मजदूरों को  देवास तक पहुंचाया जा रहा है। देवास से इन्हें दूसरी बसों द्वारा गुना और सागर तक पहुंचाया जाएगा जहाँ से इन्हें आगे भेजा जाएगा। संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने बताया है कि अब बड़वानी और बुरहानपुर दोनों जिलों से प्रतिदिन ये बस मजदूरों को लेकर देवास तक आएंगी। श्री त्रिपाठी ने यह भी बताया है कि बिहार और उत्तर प्रदेश के मजदूर जो ऑटो इत्यादि अपने साधनों से अपने घर जा रहे हैं उन्हें भी सुविधाएँ दी जा रही है और उन्हें आगे जाने दिया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न स्थानों पर ट्रांजिट कैंप बनाकर मजदूरों के लिए भोजन छाया पेयजल और चिकित्सा सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है !