THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Saturday, May 30, 2020

TCS

महिला पत्रकार ने लगाये कोतवाली पुलिस पर सरेआम बेइज्जत करने के आरोप


सात दिन बीत जाने के बाद भी दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ नहीं हुई कार्रवाई


आई जी आर एस में गलत सूचना दे स्वयं दोषी खुद रिपोर्ट अपने पक्ष में लगाईं सदर कोतवाल ने

नित्यानंद बाजपेई/राम नारायण मिश्रा
लखीमपुर-खीरी,30 May 2020
।महिला पत्रकार का जनपद लखीमपुर खीरी की सदर कोतवाली में कोतवाल तथा वहां पर  डेरा जमाए  पत्रकारों के सामने क्राइम इंस्पेक्टर पान सिंह ने सरेआम महिला पत्रकार को किया बेइज्जत लाक अप में डाल देंगे गेट आउट अपने साथ हुए अपमान से आहट पीड़ित पत्रकार पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर कोतवाली पुलिस द्वारा लगातार जारी है इंस्पेक्टर पान सिंह अपमानित करने के बाद पीड़ित पत्रकार पर हिदायत नगर से आने व रहने का आरोप लगा रहा है साथ में यह आरोप लगा रहा है कि पीड़ित पत्रकार दो साथियों के साथ आकर सीधे कंप्यूटर कक्ष में चली गई उसने लाक डाउन का उल्लंघन किया जो सरासर गलत व झूठ है जबकि मामला यह था महिला पत्रकार महिला सिपाही के बुलावे पर गई थी कोतवाली में जाते समय हाथ धो कर अंदर गई मास्क लगा हुआ था साथ में गये है एक साथी ने ग्लब्स पहने हुए थे दूसरे ने हाथ धोया था
www.thecurrentscenario.com
और महिला पत्रकार कोरोना संक्रमण
 की महामारी को भली भांति जानती है। इस विश्विक महामारी संक्रमण का संपूर्ण पालन कर उनके नियमों के अनुसार हाथ धोकर अंदर गई थी दोनों साथ गए रिपोर्टर बाहर खड़े थे वह स्वयं महिला पुलिस के साथ अंदर बैठी बात कर रही थी बाहर शोर मचने पर देखा क्राइम इस्पेक्टर पान सिंह बिना वर्दी  पत्रकारों को धमका रहे थे वजह पूछने पर महिला पत्रकार पर सारा गुस्सा उतार दिया और झूठे केस में फंसाने की धमकी दी भयभीत महिला पत्रकार ने सीधे ऑनलाइन कंप्लेंट की संख्या 40015320013243 जिसका आई0जी0आर0एस की रिपोर्ट में कोतवाल सदर दोषी होकर खुद ही अपने आप रिपोर्ट लगाई पान सिंह का बचाव किया महिला पत्रकार को हिदायत नगर की रहने वाली बताया महिला पत्रकार पर झूठा आरोप लगाया कि वह सीधे कंप्यूटर कक्ष में गई अपने साथियों साथ महिला पत्रकार को बताया उसने हाथ नहीं  धोए थे महिला पत्रकार को तथाकथित पत्रकार बताया गया जबकि महिला पत्रकार सात दिन से लगातार यही चिल्ला रही थी कि पुलिस विभाग विभाग का पक्ष लेगी वही हुआ पान सिंह और कोतवाली प्रभारी ने अपने बचाव की रिपोर्ट लगाकर मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की जा रही है। जबकि पीड़ित महिला पत्रकार लगातार यही कह रही है कि सीसीटीवी कैमरे की जांच कराई जाए पान सिंह बिना वर्दी के थे महिला पत्रकार को धमकाते वक्त उन्होंने मास्क हटा दिया लाक डाउन का उल्लंघन किया फिर भी दोषी नहीं दूसरी महिला पत्रकार जिसने लाक डाउन का संपूर्ण पालन किया और वह लाक डॉन पीरियड में मोहल्ला हिदायत नगर नहीं गई उससे पहले भी नहीं गई ना उसके साथी यह सिर्फ उस पर इल्जाम लगाकर अपने को बचाया जा रहा है। जबकि पुलिस सीसीटीवी फुटेज देख सारी स्थिति साफ करती उसने वैसा नहीं किया सीसीटीवी कैमरे पूरी कहानी बयां कर देंगे कौन सच्चा कौन झूठा सीओ साहब के पास जांच है। लेकिन सभी सभी पान सिंह की भाषा बोल रहे हैं। एक बार अपमान दोबारा खुद दोषी होकर कोतवाल ने अपने पक्ष में रिपोर्ट लगाई अब तीसरी कहानी क्या सामने आती है। यह भविष्य के गर्भ में है।