THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Saturday, May 9, 2020

TCS

प्रशासनिक कामयाबी के लिए  कलेक्टर साहब को मुबारकबाद

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी कलेक्टर राकेश जयसवाल सहाब की प्रशंसा करते हुए कई बार थपथपा चुके हैं इनकी पीठ


रहीम शेरानी
जयपुर,09 May 2020
कोटा राजस्थान धौलपुर प्रशासनिक अधिकारी की परीक्षा में पास होना ओर किसी भी महत्वपूर्ण जगह पर प्रशासनिक  अधिकारीयों के पद पर बने रहना कोई ख़ास बात नहीं है लेकीन
खास बात है
प्रशासनिक अधिकारी की तरह बर्ताव कर समस्याओं के समाधान की ओर फील्ड में काम करना लोगों के दिलों पर राज करते हुए उनकी समस्याओं का समाधान करना
यह सभी खूबियां
हमारे कोटा
राजकीय महाविद्यालय के  प्रतिभावान छात्र रहे श्री राकेश जायसवाल मे है हाँ दोस्तों अफसर होना ही सब कुछ नहीं अफसर जैसा काम भी होना चाहिए लाटसाहब की तरह दफ्तर में एयरकंडीशन में बैठकर घंटों पर्ची लेकर लोगों को बाहर बिठाना बेफिज़ूल की मीटिंगों के नाम पर टाइम खराब करना अपने निजी सहायक को लोगों से फोन पर बात नहीं करवाने की हिदायत दरबान  गनमेन को गेट पर ही लोगों को बेइज़्ज़त कर खड़े रखने की हिदायत अफसरी नहीं अफसर शाही है लाल फीताशाही अफसरी का गुरुर है ऐसे लोगों की कार्यक्षमता जब संकट की घडी में तोली जाती है तो यह अव्यवहारिक जनता से जनता की समस्याओं से दूरी बनाकर रखने वाले अफसर फैल्योर साबित होते है !
हमे गर्व है हमारे कॉलेज के साथी कोटा का गौरव बने प्रशासनिक अधिकारी राकेश जायसवाल , इस मामले में सब अधिकारीयों से अलग प्रशासनिक क्षमताओं लोगों की समस्याओं के तत्काल समाधान में अव्व्वल है
www.thecurrentscenario.com
इनके सीने में आम जनता की समस्याओं का दर्द है सरकार के प्रति वफादारी और इन समस्याओं के समाधान के प्रति इनकी जावबदारी इनकी ज़िम्मेदारी सर्वप्रथम लक्ष्य है इसीलिए राकेश जायसवाल  राजस्थान के जिस ज़िले में जिस ज़िम्मेदारी के पद पर रहे वहां सो फीसदी अपनी काबिलियत के झंडे गाड़ ते हुए कसौटी पर खरे उतरे है !
इनकी हर पोस्टिंग पर नेता अधिकारी क्या सोचते है बात अलग है लेकिन इनसे जुडी समस्याओं से त्रस्त लोग जब बिना किसी रुकावट के लिए खेद की बहाने बाज़ी के बगैर  तत्काल समस्या का समाधान देखते है , सकारात्मक परिणाम देखते है तो श्री राकेश जायसवाल को यह लोग खुद ब खुद सो में से 100 नंबर देते है !
विभाग में जिस पद पर यह रहे है उस विभाग की कार्यशैली स्वर्ग जैसी आनंदित कर देने वाली हो जाती है पत्रावली टेबल पर रुकना नहीं चाहिए बेवजह की अड़ंगे बाजी नहीं काम होना चाहिए ,जनता से जुड़े हुए काम में कोई लापरवाही ,,कोई बहानेबाज़ी नहीं ,टारगेट लेकर ,, दुगुनी शक्ती से काम होना चाहिए ,,
www.thecurrentscenario.com
यही इनका प्रशासनिक अंदाज़ है इसीलिए राकेश जयसवाल आज धौलपुर के कलेक्टर के रूप में तुलनात्मक  राजस्थान के सभी कलेक्टरों से अव्वल काम कर रहे है ,हर ,जगह ,हर समस्या के समाधान ,,हर सरकारी योजना की क्रियान्विति व्रद्धावस्था पेंशन किसानों की ,समस्याएं मज़दूरों की समस्याएं ,कर्मचारियों की समस्याये ,,शिक्षा की समस्या , क़ानून व्यवस्था की समस्या साम्प्रदायिक सद्भाव ,,कोरोना समस्या चाहे जो भी समस्या हो उसका तत्काल समाधान राकेश जायसवाल के प्रशासनिक  क्षमता के पिटारे में है
वो राजस्थान प्रशासनिक सेवा में भी टॉपर रहे !
प्रशानिक कामकाज में भी टॉपर रहे  पहले कोटा कलेक्टर के रूप में तोर अब धौलपुर कलेक्टर के रूप में टॉपर है खुद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इनकी सफल प्रशासनिक कार्यशैली सकारात्मक जनसमस्या समाधान के लिए कई बार इनकी पीठ थपथपा चुके है !
www.thecurrentscenario.com
यह राज्य स्तर पर पुरस्कृत हो चुके है  राकेश जायसवाल की कार्यशैली में कर्मचारियों अधीनस्थ अधिकारीयों से मित्रता व्यवहार उन्हें हनुमान जी की तरह उनकी शक्तियाँ याद दिलाकर उनका उत्साहवर्धन जनता की  समस्याओं की सीधी सुनवाई के बाद बिना अगर मगर किन्तु परन्तु के तत्काल उन समस्याओं का समाधान व्यक्तिगत संबंधों के चलते ज़िम्मेदार लोगों से सम्पर्क निजी फीडबैक समस्या के समाधान की सीमित साधनों के तहत सफल कार्ययोजना इनकी सफलता की कुंजी है राकेश जायसवाल धौलपुर कलेक्टर लगे  इत्तिफ़ाक़ से धौलपुर में इनके वालिद पोस्टेड रहे बचपन में इनकी शिक्षा राजाखेड़ा स्कूल में हुई तो आप उस स्कुल में हाल जान्ने पहुंचे वहां अपनी यादे ताज़ा की बच्चों की होसला अफ़ज़ाई की शिक्षकों की पीठ थपथपाई ,, कोरोना संकट में सड़क पर ज़रूरतमंदों की आवाजाही रोकने के लिए घर घर राशन की राहत घर घर नक़द वृद्धावस्था विधवा विकलांग पेंशन का भुगतान इनकी कार्यशैली है मुस्कुराना समस्याग्रस्त व्यक्ति की समस्या ध्यान से सुनना तत्काल उसका समाधान करना इन्हे प्रशानिक कार्यों में लोकप्रिय बना देता है , हाल ही में ,,कोटा में आर्म्स एक्ट स्वीकृति की साक्ष्य में जब यह कोटा आये तो सहज और सरलता से इन्होने मुझे तलाश किया सरकारी वकील बनने की बधाई दी एडवोकेट आबिद भाई को बाल कल्याण समिति सदस्य की बधाई हंसी मज़ाक़ ,मेल मुलाक़ात ,और सहज सरल स्वभाव की छाप छोड़कर रवानगी  कोटा राजकीय महाविद्यालय ओल्ड ब्वायज़ एसोसिएशन के सदस्य यूँ तो डॉक्टर इंजिनियर नेता मंत्री   वकील धर्मगुरु हाईकोर्ट जज सहित कई महत्वपूर्ण स्थानों पर हैं लेकिन भाई राकेश जायसवाल जहाँ जिस पद पर जाते है अपने सफल प्रशासनिक संचालन से ,कोटा का गौरव बढ़ाते है ,, इनके साथ रहे प्रशंसकों का सीना गर्व से छप्पन इंच का कर देते है बिना किसी नाराज़गी झल्लाहट और टाल मटोल के लोगों की शिकायतें सुनना वक्त पर उनका निस्तारण चमत्कारिक है इतना ही नहीं सभी अधिकारी और कर्मचारियों से दोस्ताना व्यवहार बनाकर प्रशासनिक कार्य करना एक नई प्रशासनिक सफलता की तकनीक को भी प्रदर्शित करता है,वर्तमान कोरोना संकट में उनके साथ काम कर चुके , उनकी कार्यशैली देख चुके ,, लोगों का कहना है ,, आज राकेश जायसवाल अगर कोटा होते ,तो शायद यहां समस्याओं की अराजकता इनकी कार्यशैली से अगर इस संकट में ज़ीरो नहीं तो न्यूनतम से भी न्यूनतम होती ,व्यवहारिक फैसले होते ,,,  धौलपुर कलेक्टर को उनकी प्रशासनिक कामयाबी के लियें मुबारकबाद बधाई अकेला कोटा राजस्थान !