THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Sunday, May 10, 2020

TCS

हमारे देश में ऐसे योद्धा है जो अपनी जान पर खेलकर देश की जनता की सेवा हेतु तत्पर है।


अली असगर बोहरा
झाबुआ,10 May 2020
कोरोना वायरस महामारी से  भारत देश की  जनता पूरी तरीके से घबराई हुई है, परंतु हमारे देश में ऐसे योद्धा है जो अपनी जान पर खेलकर देश की जनता की सेवा हेतु तत्पर है उन्हें  जनता की सेवा करने की बहुत  ललक है, तथा  अपना पूरा कर्तव्य पूरी निष्ठा से निभा रहे हैं हम बात कर रहे हैं डॉक्टर, चिकित्सक की ,
www.thecurrentscenario.com
  झाबुआ जिले की गुजरात बॉर्डर की पुलिस चेक पोस्ट पिटोल बॉर्डर पर पुलिस प्रशासन के साथ-साथ झाबुआ जिले के डॉक्टर, चिकित्सक भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं,यह ना तो अपने घर जा रहे हैं और नहीं अपने निजी कार्य कर रहे हैं
 आज तक 24 की टीम द्वारा इन से बातचीत की गई, उनके  निजी कार्यों की भी जानकारी आज तक 24  के माध्यम से आप लोगों को अवगत कराते हैं
 झाबुआ जिले की पिटोल बॉर्डर पर
 मुख्य रूप से हम आपको परिचय कराते हैं चिकित्सकों  से,  उनके  जनता के लिए  क्या क्या सुझाव है, और सुझाव को मानकर जनता कोरोना वायरस महामारी से बच सकती है 

चिकित्सकों का परिचय एवं उनके सुझाव

डॉ विजय हाड़ा आयुष मेडिकल ऑफिसर   पद पर जिला चिकित्सालय झाबुआ में पदस्थ है
पिछले एक माह से कोविड19 में मप्र गुजरात बॉर्डर पिटोल में अपनी सेवाएं दे रहे है इन्होंने बताया यहाँ पर रोजाना सात से आठ हजार लोग आ रहे और सभी की थर्मल स्क्रीनिंग कर स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा सभी को 14 दिन घर मे रहना,
साबुन से बार बार हाथ धोए,
1 मीटर की दूरी बनाए रखे
सभी प्रवासी मजदूर को समझाइश दी

2 झाबुआ निवासी डॉ.भानुप्रतापसिंह राठौर आयुष चिकित्सा अधिकारी के पद पर जिला चिकित्सालय झाबुआ में पदस्थ होकर अपनी चिकित्सा सेवाएं सतत रूप से पिटोल चेक पोस्ट बोर्डर पर दे रहे हैं, यहाँ पर वे हजारो की संख्या में गुजरात से मध्यप्रदेश की और आ रहे प्रवासी कामगारो और मजदूरों की थर्मल स्क्रीनिंग और आवश्यक चिकित्सा कर रहे हैं,और साथ ही कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से बचने के लिये क्या सावधानी बरतनी चाहिए वो बता रहे है ।

3 झाबुआ निवासी डॉ संदीप चौहान आयुष चिकित्सा अधिकारी के पद पर जिला चिकित्सालय में पदस्थ होकर अपनी सेवाएं पिटोल बॉर्डर पर दे रहे है ,इनकी शादी 19 अप्रैल को होने वाली थी परंतु कोरोना महामारी के कारन शादी को अभी     आगे बड़ा दी है ओर लगातार अपनी चिकित्सा सेवा दे कर एक अच्छे चिकित्सक का फर्ज़ निभा रहे हैं ,वे अभी तक हजारो की संख्या में गुजरात से आये मजदूरों की थर्मल स्क्रीनिंग और आवश्यक चिकित्सा सेवा दे रहे हैं।


4  पिटोल बार्डर पर झाबुआ जिला चिकित्सालय में पदस्थ। डॉ आशुतोष नायक ओर उनकी पत्नी डॉ स्वेता खतेडिया विगत 2 महीने  से  तेज धूप मै अपनी सेवाएं दे रही है ।।।

5 डॉ स्वेता का कहना है 7 मई को शादी की सालगिरह न मानते हुवे
अपने कार्य किया ओर 1 साल के बच्चे को भी घर पर ही छोड़ अपने कार्य को महत्व दिया

6  पिटोल बार्डर पर झाबुआ जिला चिकित्सालय में पदस्थ। डॉ रिंकू खतेडिया विगत 20दिन से 8 घंटे अपनी सेवाएं दे रही है इनका कहना है कि ये बाहर से आए मजदूरों की स्क्रीनिंग कर के उनको घर पर ही 14 दिन तक रहने की समझाइश दे रही है।