THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Tuesday, May 12, 2020

TCS

एक कोरोना वारियर की कहानी

अरविंद कुशवाह
बड़वानी,12 May 2020
बड़वानी - कोरोना वायरस महामारी से जहां पूरे देश में चारो ओर त्राहि-त्राहि मची हुई है ऐसे में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपनी जान की परवाह किए बगैर देश सेवा में जुटे हुए हैं अपनी जान की बाजी लगाने वालों में एक करोना वरियर्स नर्सिंग स्टाफ भी है जो डॉक्टरों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं ऐसी ही एक छोटी सी कोरोना वारियर्स है अंजली पाल जो बड़वानी जिले के छोटे से कस्बे अंजड़ की रहने वाली है जिसके पिता बीएसएनएल में पदस्थ है अंजलि के पिता कमल पाल अच्छी सैलरी पाते हैं और ऐसे संकट की घड़ी में वह अपनी बेटी को अस्पताल से नौकरी छुड़वा भी सकते हैं लेकिन देश सेवा को प्राथमिकता देते हुए कमल पाल ने अपनी बेटी को लाक डाउन के दौरान परमिशन लेकर इंदौर के निजी अस्पताल में कोरोना वायरस से जंग लड़ने के लिए भेज दिया , कमल पाल यह भी कहना है
कि जब देश के प्रधानमंत्री मोदी लगातार अपील कर रहे हैं और वो भी मैदान में उतरे तो हमें भी हमारा दायित्व निभाते हुए जहां भी हम योगदान दे सकते हैं वह देना चाहिए , अंजली की मां भी अपनी बेटी को करोना योद्धा मानती है और बेटी के जज्बे और सेवा पर गर्व महसूस करती है ,  अंजड़ से डेढ सौ किलोमीटर दूर जाकर परिवार से दूर रहकर अंजलि अपनी भूमिका को बखूबी निभा रही है
अंजली इस कोरोना वायरस से बचते हुए कोरोना वायरस पीड़ितों की भरपूर सेवा कर रही अंजलि ने अपनी बात रखते हुए कहा कि कोरोनावायरस ने के खिलाफ हर मोर्चे पर हर व्यक्ति अपना अपना योगदान कहीं न कहीं दे रहा है और एक जगह ऐसी भी थी जहां मेरे योगदान की आवश्यकता थी इसीलिए पैसों को महत्व न देते हुए और अपनी जान की परवाह न करते हुए सेवा देने वाली इस नौकरी को पहले चुना अंजलि ने देश के लोगों से यह अपील भी की है कि हम लोग यहां मरीजों का इलाज कर इस जंग में अपना योगदान दे रहे हैं आम जनता भी घर में रहें सुरक्षित रहें और अपने घर में रहकर इस कोरोना की जंग में अपना योगदान दें।