THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Wednesday, May 13, 2020

TCS

डाक्टरी परीक्षण के नाम पर महिला ने अस्पताल कर्मी द्वारा इलाज के नाम पर रूपये मांगने का लगाया आरोप 

डॉ जर्रार खान
लखीमपुर खीरी,14 May 2020
एक तरफ उत्तर प्रदेश सरकार जनता के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं से लैस चिकित्सालयों की स्थापना करवा रही है वहीं मितौली क्षेत्र के ग्राम कस्ता में बीती शाम गरीब असहाय कस्ता निवासी चमेली देवी पत्नी नंदलाल को परिवार के ही लोगों ने शराब के नशे में धुत होकर बेरहमी से मारा पीटा साथ ही धार दार हथियार से किये गए हमले से महिला के हाथ में गंभीर चोट आई, उक्त गरीब महिला जब थाने पहुंची जहां उसे डॉक्टरी परीक्षण कराने हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मितौली भेजा गया बताते हैं कि कर्मचारी द्वारा उससे बारह सौ रुपया डॉक्टरी करने के  नाम पर मांगे गए। रात्रि में जब महिला ने पैसा देने में असमर्थता जाहिर की तो कर्मचारी द्वारा बताया गया कि डॉक्टर नही है सुबह आना फिर भी 100 रुपए ले ही लिए गए ।उसके बाद घायल  महिला को बैरंग दर्द से कराहते हुए अपने घर वापस लौटना पड़ा । सुबह जब एक समाज सेवी द्वारा अस्पताल स्वयं जाकर डॉक्टर से इलाज करने को कहा गया उस समय घायल महिला का इलाज करने के दौरान घाव से जब ब्लीडिंग नही रुकी प्रभारी डॉक्टर द्वारा गंभीर हालत के चलते उक्त घयल महिला चमेली देवी को इलाज हेतु सुबह 11 बजे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।
www.thecurrentscenario.com
 इस प्रकार गरीबों का शोषण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मितौली में किया जा रहा है जो कि किसी से छिपा नहीं है। यहां आने वाले अधिकांश मरीज रेफर ही किए जाते है।
आखिर गरीब का इलाज सरकारी चिकित्सालयों में होगा या नहीं उक्त गरीब महिला कस्ता चौराहे पर कपड़े प्रेस कर के अपना जीवन यापन कर रही है तथा परिवार की जीविका चला रही हैं।
www.thecurrentscenario.com
इस बावत जब प्रभारी डॉक्टर ए एन चौहान से जानकारी ली गई तो उन्होंने मामले की जानकारी न होना बताया।