THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Thursday, May 7, 2020

TCS

सीमाएं सुरक्षित - भोपाल सुरक्षित

रहीम शेरानी
भोपाल,07 May 2020
भोपाल कोराना संक्रमण के क्षेत्र को सीमित करने का अहम दायित्व निभा रहे - हेनरिक एंथोनी
कोरोना युद्ध कालीन समय में फ्रंटलाइन योद्धा विभागों के महत्वपूर्ण कार्यों की सफलता हमारे सेकंड लाइन योद्धाओं के अहम योगदान पर निर्भर करती है। स्वास्थ्य पुलिस ,नगर निगम जैसे विभागों के योगदान की नींव का निर्माण करता है लोक निर्माण विभाग। ऐसे में भोपाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के दौरान संक्रमण के क्षेत्र को सीमित करने का अहम दायित्व निभा रहे श्री हेनरिक हिमांशु एंथोनी। लोक निर्माण विभाग में सब इंजीनियर के पद पर पदस्थ श्री हेनरिक एंथोनी बैरागढ़, ईटखेड़ी, गांधी नगर और अयोध्या नगर थाना क्षेत्र में कोरोना संक्रमित कंटेनमेंट क्षेत्र की सीमाएं सील करने, पुलिस चेकिंग के लिए बैरिकेट्स की व्यवस्था के साथ क्वॉरेंटाइन सेंटरों पर बुनियादी व्यवस्थाएं निर्मित करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निरंतर निभा रहे हैं।
www.thecurrentscenario.com
जिला प्रशासन द्वारा कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित करने के साथ ही श्री एंथोनी अपने 12 सदस्य दल के साथ उस क्षेत्र की सीमाएं सील करने में जुट जाते है। वे बताते है संक्रमित क्षेत्र संवेदनशील होने के साथ-साथ कोरोना वायरस के जोखिम से भरा होता है। मातहत कार्य कर रहे कर्मचारी संक्रमित हो जाने के भय से उस क्षेत्र में जाने और कार्य करने से मना कर देते हैं। ऐसे समय में खुद के मन में डर होने के बावजूद भी अपने कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाने के साथ कार्य कराना चुनौतीपूर्ण होता है।
संक्रमित क्षेत्र और क्वॉरेंटाइन भवन में अपनी सेवाएं देने देने के दौरान अपनी 2 वर्षीय नन्ही बेटी  सराह एंथोनी का मुस्कुराता चेहरा अनायास ही सामने आ जाता है। पत्नी रिचा एंथोनी और परिवार को संक्रमण से बचाने के लिए श्री एंथोनी अपने घर में बाहर के कमरे में ही अलग-थलग रह रहे हैं। एक ही घर में रहने के दौरान भी संक्रमण से सुरक्षा के लिए अपनी बच्ची से दूर से बात करना होता  हैं। संक्रमण के खतरे और कार्य के तनाव के दौरान अपने परिवार से दूर रहना अत्यंत ही दुखद होता है।
श्री हेनरिक कहते है कि यही वह समय है जिसके लिए हमने शासकीय सेवा में आने का निर्णय लिया है। कोरोना संकटकाल ने साबित कर दिया है कि शासकीय सेवा का अर्थ ही जन सेवा है ।
वह इस समय जनता को सेवाएं दे रहे सभी अधिकारियों और कर्मचारयों का धन्यवाद देते है उनका अभिनंदन करते है।
सच्ची देशभक्ति यही है जब आप जनसेवा को समर्पित अपने कर्तव्यों का निर्वहन सच्ची निष्ठा और ईमानदारी के साथ करते है।