THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Wednesday, May 20, 2020

Burhanpur

कलेक्टर ने जिलेवासियों से किया "आरोग्य सेतु" एप डाउनलोड करने का आव्हान

ब्यूरोचीफ महेलका अंसारी
बुरहानपुर,20 May 2020
कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह ने समस्त जिलेवासियों से आव्हान किया है कि सभी अपने-अपने मोबाइल में‘‘आरोग्य सेतु‘‘ एप अवश्य डाउनलोड करे। यह एप लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे और जोखिम का आंकलन करने में मदद करता है। आरोग्य सेतु एप एंड्रायड और आईफोन दोनों फोन पर डाउनलोड किया जा सकता है। अंग्रेजी और हिन्दी समेत 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध एप हरे और पीले रंग के कोड में आपके जोखिम के स्तर को बताता है और सुझाव देता है कि आपको कोरोना वायरस से बचने के लिये क्या करना चाहिए।
www.thecurrentscenario.com
"आरोग्य सेतु" एप डाउनलोड करने का तरीका
    कलेक्टर ने बताया कि आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के लिये गूगल प्ले पर जाकर AarogyaSetu टाइप करें। आरोग्य और सेतु के बीच स्पेस नहीं दें। अपनी भाषा चुनने के बाद "रजिस्टर्ड नाउ" बटन पर टेप करें। ब्लूटूथ और जीपीएस ऑन करने के बाद एप को काम करने के लिये इसकी अनुमति दें। आरोग्य सेतु कांट्रेक्ट ट्रेसिंग के लिये मोबाईल नम्बर, ब्लूटूथ और लोकेशन डेटा का उपयोग करता है और बताता है कि आप कोरोना के जोखिम के दायरे में आ रहे है या नहीं। अपना मोबाईल नम्बर रजिस्टर्ड करने पर एप काम करने लगेगा। इसके बाद वैकल्पिक फार्म खुलने पर उसमें नाम, आयु, व्यवसाय और पिछले तीस दिनों में की गई विदेश यात्रा की जानकारी सबमिट करनी होती है। इस फार्म को स्किप किया जा सकता है। अगर कोई स्वयं सेवक बनना चाहता है, तो उसके पास खुद को इसमें नामांकित करने का विकल्प भी है।
कोरोना का खतरा भी बताता है एप
    "आरोग्य सेतु" एप हरे और पीले रंग के कोड में जोखिम के स्तर को दिखाता है। ग्रीन कोड में बताता है कि आप सुरक्षित हैं, कोई खतरा नहीं हैं। अगर पीला रंग दिखता है और लिखकर आता है कि आप जोखिम में हैं, तो आपको हेल्पलाइन में सम्पर्क करना चाहिए। एप पर लोग "सेल्फ ऐसेसमेंट टेस्ट" फीचर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसके लिये ऑप्शन पर क्लिक करने पर एप चैट विन्डो खुलेगी। इसमें यूजर की सेहत और लक्षण से जुड़े हुए कुछ सवाल किये जाएंगे।
हेल्पलाइन नम्बर का पता भी बताता है
    कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि हेल्पलाइन नम्बर का पता लगाने के लिये कोविड-19 हेल्प सेंटर बटन पर क्लिक करना पड़ेगा और अपने शहर की लोकेशन तक पहुँचने के लिये स्क्रॉल डाउन करना होगा।