THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Tuesday, April 14, 2020

World

तुर्की में कोरोना का राजनैतिक संकट, गृहमंत्री का इस्तीफ़ा, राष्ट्रपति का स्वीकार करने से इन्कार

Sajjad Ali Nayane
14 April 2020
तुर्की में कोरोना वायरस ने अब राजनैतिक बलि लेना भी शुरू कर दिया है और इस देश के गृहमंत्री ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया है जो पिछले सात साल में किसी तुर्क मंत्री का पहला इस्तीफ़ा है।
तुर्की के गृह मंत्री सुलैमान सोयलू ने लॉकडाउन लागू करवाने में नाकामी के बाद अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया। तुर्की के सभी 31 शहरों में शनिवार की सुबह से 48 घंटे के लॉकडाउन की घोषणा की गई थी लेकिन घोषणा के तुरंत बाद लोग दुकानों और बेकरियों पर सामान ख़रीदने निकल पड़े और अफ़रातफ़री जैसी स्थिति हो गई। इस स्थिति के कारण विपक्षी नेताओं ने सरकार की कड़ी आलोचना की। गृह मंत्री सुलैमान सोयलू की भी कोरोना संकट के नियंत्रण के तरीक़े के कारण आलोचना की जा रही है। अब सोयलू ने ट्वीट करके कहा है कि वे इसकी पूरी ज़िम्मेदारी लेते हैं और अपने पद से इस्तीफ़ा देते हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है कि लाॅकडाउन का फ़ैसला लोगों की सुरक्षा और संक्रमण रोकने के लिए था। इस बीच राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने उनका इस्तीफ़ा स्वीकार नहीं किया है और कहा है कि सुलैमान सोयलू अपने पद पर बने रहेंगे।
*www.thecurrentscenario.com*
 उधर तुर्की के स्वास्थ्य मंत्री फ़ख़रुद्दीन कूजा ने बताया है कि पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के लगभग पांच हज़ार नए मामले सामने आए हैं और देश में कोविड-19 में संक्रमित होने वालों की संख्या 57 हज़ार हो गई है। तुर्की में पिछले कुछ दिनों के दौरान कोरोना बड़ी तेज़ी से फैला है और इसी की रोकथाम के लिए सरकार ने शनिवार से 2 दिन के लाॅकडाउन की घोषणा की थी। सरकार ने इसी तरह 65 से ज़्यादा और 20 साल से कम उम के लोगों के घरों से निकलने पर प्रतिबंध लगा दिया है।