THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Tuesday, April 21, 2020

World

तुर्की में कोरोना का भंयकर रूप, चीन को पीछे छोड़ बन गया एशिया का पहला प्रभावित देश

Sajjad Ali Nayane
21 April 2020
तुर्की ने कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या में चीन को भी पीछे छोड़ दिया है और अमरीका और यूरोप के बाद सबसे अधिक प्रभावित होने वाला देश बन गया है।
तुर्की में संक्रमितों का आंकड़ा 86,306 तक पहुंच गया है, जबकि मरने वालों की संख्या
जैसे-जैसे कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़ रही है, तुर्की में स्वास्थ्य प्रणाली के ध्वस्त होने की आशंका बढ़ रही है। इस तरह की आशंकाओं को दूर करते हुए तुर्क स्वास्थ्य मंत्री फ़हरेटिन कोका ने कहा है कि तुर्की की स्वास्थ्य प्रणाली पश्चिमी देशों के विपरीत महामारी का मुक़ाबला करने के लिए अधिक सक्षम है।
www.thecurrentscenario.com
उनका कहना था कि देश के अस्पतालों में अभी भी काफ़ी क्षमता है और आईसीयू में 60 प्रतिशत से अधिक बेड ख़ाली हैं। कोका ख़ुद भी एक डॉक्टर हैं और महामारी के दौरान उनकी दैनिक ब्रीफिंग ने सोशल मीडिया पर उन्हें एक स्टार बना दिया है। इस वर्ष की शुरुआत से अब तक ट्विटर पर उनके 40 लाख से अधिक फ़ोलोवर बढ़ गए हैं।
वायरस से ग्रस्त तुर्की में संकट ने 10 अप्रैल को उस समय लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा, जब सप्ताहांत के कर्फ्यू की देर से की गई घोषणा के बाद लोगों में खाने-पीने की चीज़ों की ख़रीदारी के लिए होड़ लग गई। यहां तक कि गृह मंत्री सुलेमान सोय्लू ने उस समय अपना इस्तीफ़ा देने की पेशकश की, लेकिन तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोगान ने उसे स्वीकार करने से इनकार कर दिया।
हालांकि देश में स्कूल और रोस्टोरैंट बंद हो गए हैं, लेकिन तुर्की ने अब तक पूर्ण रूप से लॉकडाउन लागू करने से परहेज़ किया है, इसके बजाय सप्ताहांत कर्फ्यू को प्राथमिकता दी है।