THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Friday, April 10, 2020

World update

सऊदी अरब की नई चाल, एक तरफ़ उसने दो सप्ताह युद्धविराम की घोषणा कर रखी है और दूसरी ओर यमन पर हमले भी कर रहा है इसके पीछे उसके क्या लक्ष्य हो सकते हैं?

Sajjad Ali Nayani
11 Apr 2020
सऊदी अरब के ताज़ा हमलों में यमन के दो आम नागरिक मारे गये हैं। यमनी सेना के प्रवक्ता ने बल देकर कहा है कि हमला करने वाला सऊदी गठबंधन दो सप्ताह के युद्ध विराम की घोषणा के बावजूद हमले कर रहा है।  समाचार एजेन्सी तसनीम की रिपोर्ट के अनुसार यहिया सरीअ ने कहा है कि हमलावर सऊदी गठबंधन विभन्न मोर्चों विशेषकर सीमावर्ती क्षेत्रों में अपने हमलों को जारी रखे हुए है।उन्होंने  स्पष्ट किया कि हमलावर गठबंधन के सैनिकों ने हिर्ज़, मजाज़े असीर और नजरान के दूसरे क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए 5 से
अधिक बार विभिन्न क्षेत्रों पर हमला किया।  उन्होंने कहा कि यमनी सेना और स्वयं सेवी बल के जवानों ने ईश्वर की कृपा से दुश्मनों का डटकर मुकाबला किया और उन्हें काफी जानी व माली क्षति पहुंचाई।इसी प्रकार यमन की सशस्त्र सेना के प्रवक्ता ने बल देकर कहा कि यमनी सेना दुश्मन के हर प्रकार के हमले का मुकाबला करने के लिए तैयार है और हर प्रकार के तनाव का परिणाम दुश्मन की पराजय के अलावा कुछ और नहीं होगा।ज्ञात रहे कि सऊदी गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की अलमालेकी ने गुरूवार की सुबह आधिकारिक रूप से यमन में दो सप्ताह के युद्ध विराम की घोषणा की थी और कहा था कि इसकी अवधि बढ़ाई भी जा सकती है।

समाचार एजेन्सी इर्ना ने रिपोर्ट दी है कि सऊदी गठबंधन ने आज सुबह यमन के पश्चिम में स्थित अलहुदैदा प्रांत में तोपों से हमला किया जिसमें दो आम यमनी मारे गये। इसी प्रकार सऊदी अरब के गठबंधन सैनिकों ने हज्जा और सादा प्रांतों में कई बार बमबारी की।
जानकार हल्कों का मानना है कि दो सप्ताह युद्ध विराम का दावा सऊदी अरब की एक नई चाल है जिसका एक लक्ष्य यह है कि सऊदी अरब अपने हमलावर सैनिकों को संगठित कर सके और दूसरे आम जनमत को यह संदेश दे सके कि कोराना महामारी के दौरान उसने यमन में संघर्षविराम घोषित कर दिया था ताकि उसकी ख़राब हो चुकी छवि कुछ बेहतर हो सके।
इसी प्रकार जानकार हल्कों का कहना है कि जिस सऊदी अरब ने हज के ज़माने में और पवित्र रमज़ान के महीने में युद्ध विराम नहीं किया और यमन की निर्दोष जनता पर हमले किया वह कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए क्या युद्ध विराम करेगा? इसीलिए जानकार हल्कों का मानना है कि दो सप्ताह के लिए संघर्षविराम पर आधारित सऊदी अरब का दावा झूठ और छलावे के सिवा कुछ और नहीं है।