THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Saturday, April 11, 2020

Akola

लॉकडाउन के मद्देनजर मध्यम वर्ग को शासन दे आर्थिक मदत : सैय्यद नासीर

सोने चाँदी पर बिना ब्याज के क़र्ज़ मुहैया कराए सरकार

ज़फर खान ✍️
अकोला 12 April 2020
पिछले 22 मार्च 2020 से ज़िला सहित पुरे देश में कोरोना महामारी से निपटने के लिए लॉकडाउन के कारण सामान्य नागरिको पर भुखमरी की नैबत आ चुकी हैं । बहुत से सामाजिक , धार्मिक , दानशुरो द्वारा महानगर सहित ज़िले में गरीब ज़रूरतमंद लोगो को बिना किसी भेदभाव के सहायता

कार्य शुरू है । जैसे की खाना बनाकर खिलाना , राशन किट व अपने अपने तौर पर सभी की सहायता की जा रही है ।लेकिन वह पर्याप्त नहीं है ।क्योंकि महानगर सहित ज़िले की अधिकांश आबादी हाथ मजूदूरी करने वाले लोगों की है , इसलिए इन लोगो की सहायता के लिए शासन द्वारा ठोस कदम  उठाने की आवश्कता है । सरकार एवमं प्रशासन अपने स्तर पर ज़िले के नागरिको को कोरोना वायरस जैसी भयानक महामारी से बचाने में लिए बहुत ही सरहनीय (कार्य) योगदान दे रहे है  । अतः स्थानीय प्रशासन से जनलोकशाही संगठन
The current scenario sayed nasir akola
द्वारा पत्र के माध्यम से स्थानीय प्रशसन से माँग की गई है के सरकार को ज़िले के मौजूदा हालात से अवगत करवाकर सरकारी सहायता निधी उपलब्ध कराने की पहल करे । वही लॉकडाउन के नये नियमानुसार जीवनावश्यक सेवाओ में व्यवसाय के लिए सुबह 6 बजे से 12 बजे तक राशन सामग्री व अन्य वस्तु के लिए व्यवसाय शुरू है ।लेकिन लॉकडाउन के कारण रोज़ मजूरी करने वाले सामान्य नागरिको के पास राशन सामग्री खरीदने के लिए पैसो की भी कमतरता दिखाई दे रही है और मदद करने वाली संस्थाएं भी प्रत्येक नागरिको

को सुविधा देने में सक्षम नही है । इसी के मद्देनजर स्थनीय सामाजिक संगठन जनलोकशाही संगठन के संस्थापक अध्यक्ष सैय्यद नासीर ने  सरकार एवमं प्रशासन से  विनती की है कि इस भयानक महामारी के कारण देश में चल रहे लॉकडाउन को देखते हुए सभी के काम बंद है लेकिन प्रत्येक नागरिक के पास सोने चाँदी के ज़ेवर रहते ही है लोग इस मुश्किल घडी में  सोने चाँदी के ज़ेवर अधिकृत बैंको में बिना ब्याज के गिरवी रखकर नागरिको को पैसे मुहय्या कराएं जाएं ताकि लॉकडाउन के कारण किसी पर भी भुकमरी की नौबत न आए क्योंकि मौजूदा हालात ऐसे है के कोरोना वायरस से लोग मरे ना मरे लेकिन भुकमरी से ज़रूर कोई ना कोई मर सकता है। ऐसी माँग स्थानीय समजसेवक तथा जनलोकशाही संगठन के संस्थापक अध्यक्ष सैय्यद नसीर ने ईमेल के माध्यम एक पत्र द्वारा मुख्यमंत्री महाराष्ट्रा राज्य माननीय उद्धव ठाकरे  , अकोला के पालकमंत्री मा ना बच्चू भाऊ कडु ,अकोला जिलाधिकारी जितरेद्र पापलकर  से की है।