THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Wednesday, January 22, 2020

Burhanpur

जलसंरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से बैठक का आयोजन

जिले में बोरीबंधान कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण करें-कलेक्टर श्री कौल

बुरहानपुर (मेहलक़ा अंसारी) 
कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज बुधवार को जिले में जलसंरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से कलेक्टर श्री राजेश कुमार कौल की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया।  बैठक में कलेक्टर श्री कौल ने जिले में जलसंरक्षण हेतु बोरीबंधान कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण करने के निर्देश नगरीय एवं ग्रामीण निकायों के अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि इस वर्ष जिले में बारिश अच्छी हुई है। इसलिए इस जल को अभी से संग्रहण करने का कार्य किया जाये ताकि गर्मी के दिनों में किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो।
बैठक में अपर कलेक्टर श्री रोमानुस टोप्पो, नगर निगम आयुक्त श्री भगवानदास भूमरकर, सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों में डाक्टर एस एम तारिक़, हमीद रस्सी वाला , अता उल्ला खान, गौरी दिनेश शर्मा, गणपत दास चाचा चौधरी,राजनैतिक दलों के प्रतिनिधिगण में विजय गुप्ता, जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी तथा शहर के गणमान्य नागरिकगण सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित रहे।
    बैठक में उपस्थित समस्त सदस्यों द्वारा बोरीबंधान विषय पर गहनता से चर्चा की गई तथा बोरीबंधान हेतु आवश्यक सुझाव एवं स्थल चिन्हिंत हेतु विचार आमंत्रित किये गये। संबंधित उपस्थित सदस्यों द्वारा अपने-अपने सुझावों एवं विचारों को प्रगट किया गया। जहां बैठक में सभी ने सर्वसम्मति से बोरीबंधान कार्य में सहमति व्यक्त की। 
    कलेक्टर ने कहा कि जिले में सर्वप्रथम ताप्ती नदी के छोटे पुल से बोरी बंधान का कार्य प्रारंभ किया जायेगा। जिसके बाद जिले के चिन्हिंत अन्य स्थलों पर भी बोरी बंधान कार्य किया जायेगा। बोरीबंधान कार्य के लिये नगर निगम बुरहानपुर को निर्देश दिये है कि इस कार्य में लगने वाले आवश्यक संसाधन तथा अन्य सामग्री की व्यवस्था करवाना सुनिश्चित करें। बैठक में उपस्थित सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने उक्त कार्य के लिए श्रमदान देने हेतु सहमति व्यक्त की।
    बैठक में बोरीबंधान कार्य को प्राथमिकता में स्थान देते हुए शासकीय अधिकारियों, राजनैतिक संगठनों एवं सामाजिक संस्थाएँ को आगे आने एवं स्वेच्छा से श्रमदान करने का आव्हान किया गया। साथ ही बोरीबंधान के लिए आवश्यक वस्तुएं बोरी एवं अन्य सामग्री की व्यवस्था करने हेतु विभागवार निर्देश दिये गये।