THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Friday, November 22, 2019

From Britain's Labor Party manifesto, concern in Israel and Saudi Arabia, Myanmar and Yemen are also named ...

ब्रिटेन की लेबर पार्टी के घोषणापत्र से , इस्राईल व सऊदी अरब में चिंता,  म्यांमार व यमन का भी नाम...

23-Nov-2019
Sajjad Ali Nayani
ब्रिटेन की लेबर पार्टी ने अपना चुनावी घोषणापत्र प्रकाशित कर दिया है जिसमें कहा गया है कि अगर लेबर पार्टी की सरकार बनी तो ब्रिटेन द्वारा इस्राईल और सऊदी अरब को हथियार बेचने पर रोक लगा दी जाएगी।ब्रिटेन की लेबर पार्टी ने गुरुवार को 107 पेज का अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया जिसमें " जेरेमी कोर्बिन" से नेतृत्व में लेबर पार्टी की भावी सरकार की नीतियों का एलान किया गया है।
ब्रिटेन के विपक्षी नेता जेरेमी कोर्बिन ने  वादा किया है कि अगर वह ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बने तो सऊदी अरब और इस्राईल के ब्रिटेन द्वारा बेचे जाने वाले सभी हथियारों पर न तो एक बड़े भाग पर ज़रूर रोक लगा देंगे।
TCS

टाइम्ज़ आफ इस्राईल ने लिखा है कि लेबर पार्टी के घोषणापत्र में कहा गया है यमन में इस्तेमाल की वजह से सऊदी अरब और फिलिस्तीनियों के मानवाधिकारों के उल्लंघन की वजह से इस्राईल को हथियारों की बिक्री पर रोक लगा दी जाएगी।
ब्रिटेन की लेबर पार्टी ने इसी  प्रकार वादा किया है कि अगर वह जीतती है तो फिलिस्तीन को एक देश के रूप में औपचारिकता देगी। लेबर पार्टी के घोषणापत्र में कहा गया है कि " लेबर पार्टी मध्य पूर्व में शांति स्थपना को अपना कर्तव्य समझती है और इसके लिए दो राज्यों की व्यवस्था को समाधान समझती है। इन विवादों के लिए कोई भी सैन्य समाधान नहीं है और सभी मुद्दों को न्याय और अंतरराष्ट्रीय नियमों के आधार पर हल किया जाना चाहिए। लेबर पार्टी की सरकार तत्काल फिलिस्तीनी राज्य को औपचारिकता देगी। "
ब्रिटेन की लेबर पार्टी के  घोषणापत्र, में इसी प्रकार कहा गया है " कंज़रवेटिव पार्टी, कश्मीर, यमन और म्यांमार जैसे मानवीय संकटों के निवारण और इसी प्रकार ईरान के साथ तनाव बढ़ने की प्रक्रिया में सार्थक भूमिका निभाने में विफल रही है, कहीं कहीं तो वह अंतरराष्ट्रीय नियमों के उल्लंघन पर चुप रही है उदाहरण स्वरूप पत्रकार जमाल खाशुकजी की हत्या के लिए सऊदी क्राउन प्रिंस की आलोचना करने से इन्कार कर दिया। "
ब्रिटेन में अगले 12 दिसंबर को आम चुनाव का आयोजन होने वाला है। (Q.A.)