THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Friday, November 8, 2019

अयोध्या पर फैसले की प्रतीक्षा, हर पक्ष बरते संयम :कानपुर जर्नलिस्ट क्लब

अयोध्या पर फैसले की प्रतीक्षा, हर पक्ष बरते संयम
कानपुर जर्नलिस्ट क्लब
बकर अली खान 
कानपुर
इस वर्ष नवंबर का महीना प्रतीक्षा का महीना बन गया है। वर्षों से किसी फैसले की प्रतीक्षा कर रही अयोध्या भी कल सर्वोच्च न्यायालय का फैसला जानने को आतुर है। सामाजिक समरसता बनाए रखने के लिए इस फैसले के बाद की स्थितियों पर भी चिंतन शुरू हो गया है। समाज के सभी वर्गों के लोग न्यायालय के फैसले की प्रतीक्षा के साथ यह अपील भी कर रहे हैं कि फैसला कुछ भी आए, हर पक्ष को संयम बरतना चाहिए। इसके लिए लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता भी बताई जा रही है। सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के पश्चात फैसला चाहे जो आए, सभी को उस फैसले को खुले मन से स्वीकार करना चाहिए। निर्णय के पश्चात देश भर में वातावरण सौहार्द्रपूर्ण रहे, यह सुनिश्चित करना भी सबका दायित्व है। ऐसे में सभी पक्षों की जिम्मेदारियां भी बढ़ जाती हैं। ऐसे में यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि फैसले के बाद कहीं भी किसी भी तरह का जुलूस न निकाला जाए। फैसले को न कोई अपनी जीत के रूप में लेकर विजय का जश्न मनाए, न कोई हार के रूप में लेकर निराशा में प्रतिक्रिया करे। फैसला जो भी उसे संयमित रहकर स्वीकार किया जाए। फैसले के बाद किसी प्रकार की टीका टिप्पणी न की जाए। इस दौरान माहौल बिगाड़ने के लिए अफवाह फैलाने की कोशिशें भी हो सकती हैं। अफवाह फैलाने वालों के बारे में तुरंत पुलिस को सूचित किया जाए। देश की एकता-अखंडता के लिए आपसी भाईचारा जरूरी है और संयम के साथ ही सौहार्द्र का सृजन किया जा सकता है।।