THE CURRENT SCENARIO

Advertisement

BREAKING

BSE-SENSEX:: 59,015.89 −125.27 (0.21%) :: :: NSE :: Nifty:: 17,585.15 −44.35 (0.25%)_ ::US$_:: 73.55 Indian Rupee_.

Wednesday, November 20, 2019

A change in American outlook will have very dangerous consequences, Jordan warns

अमरीकी दृष्टिकोण में बदलाव का बहुत ख़तरनाक नतीजा निकलेगा, जॉर्डन ने दी चेतावनी

21-Nov-2019
Sajjad Ali Nayani
जॉर्डन ने अतिग्रहित भूमि पर इस्राईल की ओर से कालोनियों के जारी निर्माण के बारे में अमरीकी दृष्टिकोण में आए बदलाव पर चेतावनी दी।जॉर्डन के विदेश मंत्री ऐमन अस्सफ़दी ने पश्चिमी तट में ज़ायोनी शासन द्वारा कालोनियों के निर्माण के बारे में अमरीकी दृष्टिकोण में बदलाव को ख़तरनाक बताया।

उन्होंने फ़िलिस्तीन की भूमि पर ज़ायोनियों के लिए कालोनियों के निर्माण को ग़ैर क़ानूनी बताते हुए कहा कि अतिग्रहित भूमि में कालोनियों के निर्माण के बारे में अमरीकी दृष्टिकोण, फ़िलिस्तीनियों के उनके अधिकार तक पहुंचने के मार्ग में ख़तरनाक रुकावट बनेगा।अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सोमवार की रात कहा कि ट्रम्प सरकार ने इस्राईल की कालोनियों के निर्माण के बारे में वॉशिंग्टन की पिछली नीति को बदल दिया है और अब वह फ़िलिस्तीन की भूमि पर इस्राईल के कालोनियों के निर्माण को अंतर्राष्ट्रीय क़ानून का उल्लंघन नहीं समझता।

इस बीच फ़िलिस्तीन की भूमि पर ज़ायोनी शासन के कालोनियों के निर्माण को अमरीका की ओर से समर्थन पर फ़िलिस्तीनियों, मिस्र और योरोपीय संघ ने आपत्ति जताते हुए इसकी निंदा की है।
अतिग्रहित भूमि पर इस्राईली मानवाधिकार सूचना केन्द्र ने सोमवार को कहा कि इस्राईल ने जारी वर्ष 2019 में सितंबर के अंत तक पूर्वी अलक़ुद्स में 140 फ़िलिस्तीनी घरों को ध्वस्त किया।
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 23 दिसंबर 2016 को प्रस्ताव नंबर 2334 पारित किया, जिसमें ज़ायोनी शासन से मांग की गयी है कि वह फ़िलिस्तीनी इलाक़ों में कालोनियों के निर्माण को पूरी तरह रोक दे।(MAQ/N)